कोरोना वायरस अल्लाह की दी हुई सजा है, अगर इससे बचना है तो मस्जिद में नमाज पढो : सपा सांसद

Also Read

शफीकुर रहमान

संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर रहमान ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बकरीद के मौके पर मार्केट खोले जाने चाहिएं ताकि लोग वहां जाकर कुर्बानी के लिए जानवर खरीद सकें। उन्होंने कहा है कि मस्जिदें और ईदगाहें खोली जानी चाहिएं ताकि लोग यहां नमाज पढ़ने के लिए इकट्ठा हो सकें और कोरोना के खात्मे के लिए दुआ कर सकें।



उन्होंने कहा कि अभी तक कोरोना बीमारी का कोई इलाज नहीं खोजा जा सका है, जिसका मतलब है कि ये बीमारी नहीं है बल्कि ऊपर वाले की तरफ से हमारे गलत कामों की सजा है। कोरोना का सर्वोत्तम इलाज है कि हम अल्लाह से इसके खात्मे की दुआ करें।


इस्लामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने बकरीद के मद्देनजर राज्य सरकार से ईदगाह में नमाज पढ़ने की इजाजत देने और कुर्बानी की व्यवस्था करने की मांग करते हुए इस सिलसिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है।

पत्र में कहा है कि बकरीद का त्यौहार शनिवार को राज्य सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन के दिन भी पड़ सकता है, इसलिए शनिवार और रविवार के लॉकडाउन को खत्म कर उसके स्थान पर मंगलवार और बुधवार को लॉकडाउन किया जाए ताकि बकरीद का त्यौहार प्रभावित ना हो। मद्रासी ने पत्र में सामाजिक मेल जोल से दूरी के नियमों का पालन करते हुये बकरीद की नमाज ईदगाह में पढ़ने की इजाजत देने की मांग की है। 




0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने