महाराष्ट्र के पालघर में 2 हिन्दू साधुओ को भीड़ ने पीटकर मार डाला,


महाराष्ट्र के पालघर स्थित तलासरी अहमदाबाद हाईवे पर साधु-संतों कीगाड़ी पर कुछ संदिग्ध लोगों ने भीषण और सोच समझ कर ऐसा हमला किया कि उसमे 2 संतो की हत्या हो गई और उन्हें ले जा रहा ड्राइवर भी उसी हमले में मारा गया है.



इस मामले से मचे हडकम्प के बाद अब तक पुलिस ने कुल 110 दोषियों पर अभियोग पंजीकृत कर के कार्यवाही की है. मिल रही जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र के पालघर स्थित तलासरी गाव मे अहमदाबाद नेशनल हाईवे से गुजरात की तरफ भगवान का भजन करते हुए गुज़र रहे साधु महात्माओं के वाहन को रोक कर उन पर घात लगा कर जानलेवा हमला किया गया है . इस जानलेवा हमले की चपेट में आ कर अब तक 2 संत और एक ड्राइवर की मौत हो चुकी है और कुछ घायल हुए हैं जिनका इलाज़ करवाया जा रहा है.



दो दिन पहले मुंबई के दहिसर से दो संत जो आपने गुरुभाई संत रामगिरी महाराज जी का सूरत मे उनके आश्रम में निधन हो गया. उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए उनके श्रीसुशील गिरी व उनके ज्येष्ठ गुरु चिकना बाबा अपने ड्राइवर के साथ अहमदाबाद नेशनल हाईवे इलाके से गुज़र रहे थे कि आगे पालघर स्थित तलासरी कासा गांव में गाड़ी रुकवा करकुछ गुंडे चोरी छिनैती के इरादे से चोर - चोर चिल्लाकर उन संतो को धारदार हथियार,लकड़ी तलवार से हमला करना शुरू कर दिया. इतना ही नहीं , उनके पास जो भी नकदी थीउसको भी छीन लिया गया. लाक डाउन में पुलिस की गश्त की पोल भी यहाँ खुलती दिखाई दीक्योकि इस पूरे हंगामे में काफी देर तक पुलिस का कोई नामोनिशान तक नहीं था.


जब शोर ज्यादा मचा तो घटना स्थल पर पहुंच कर पुलिस ने उन संतो को कुछ देर तक स्थानीय पुलिस चौकी में रखा फिर अपनी जीपमें बिठाया. फिर भी हमलावरों ने पोलिस से हाथापाई कर सभी संतो को हथियारों से तबतक मारा जब तक उनके प्राण पखेरू नहीं उड़ गये .. बताया ये भी जा रहा है कि पुलिस अगरउन दोनों संतो को और कुछ समय तक पुलिस चौकी के अंदर बैठा कर रखती और कंट्रोल रूम से अतिरिक्त पुलिस बल की मदद मांगती तो उन सभी संतो की जान बच सकती थी. इसी केचलते कहीं न कहीं इस घटना मे महाराष्ट्र पुलिस की भूमिका के ऊपर भी एक बहुत बड़ासवाल खड़ा हो रहा है.



पुलिस द्वारा बताया गया कि अभी तक 110 लोगों के ऊपर मामला दर्ज किया गया है लेकिन  गुंडों पर मामला दर्ज करके थोड़ी ना वापिस इन संतों की जान चली आएगी इन संतों के शव को देने के लिए भी पुलिस ने बहुत ही सवाल जवाब साधु संतों से करवाने की भी खबर सामने आ रही है लेकिन 2 दिन बाद इन साधु संतों का सेव आज त्रंबकेश्वर अखाड़े के संतों को सौंपा गया है . आज इन दोनों संतो के ऊपर त्रंबकेश्वर में समाधि दी गई.






नया पेज पुराने