लॉकडाउन देखने गांव से शहर आया युवक, पुलिस थाने ले गई, केस दर्ज कर कहा- देख लो... ये होता है लॉकडाउन

Also Read


लाॅकडाउन को कुछ लोगों ने मजाक बना लिया है। गुरुवार को सड़क पर घूम रहे एक युवक से पदमनगर थाना प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने कारण पूछा तो वह बोला- मेरा नाम सलीम गनी मंसूरी, ग्राम गांजा (बड़गांव) में रहता हूं। शहर में लॉकडाउन का माहौल देखने आया हूं। गांव में पता ही नहीं चल रहा क्या होता है लॉकडाउन। पुलिसकर्मियों ने कहा- चलो थाने लॉकडाउन दिखाते हैं। सलीम मंसूरी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। सलीम ने कहा कि अब कभी नहीं आऊंगा... पता चल गया लॉकडाउन क्या होता है। इसके अलावा पड़ावा क्षेत्र में आसिफ इब्राहिम गौरी पान की दुकान बार-बार खोल रहा था। पुलिस ने उसे कई बार समझाइश दी। नहीं मानने पर गुरुवार शाम आसिफ के खिलाफ केस दर्ज किया।


बेवजह बाहर घूमने वालों के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने भी बुधवार रात और गुरुवार को सख्ती करते हुए 5 केस दर्ज किए। बाइक चालक विनोद पटेल निवासी ग्राम पिपलिया और साथी को जलेबी चौक पर रात 10 बजे पूछताछ की। दोनों युवक कारण नहीं बता सके। इसके अलावा टीआई बीएल मंडलोई ने एक ऑटो को रोककर पूछताछ की तो उसने कहा कि सवारी ढूंढ रहा हूं। आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर बाइक जब्त की है। थाना मोघट पुलिस ने राजेश जेठाराम निवासी सिंधी कॉलोनी और मोहित पिता नत्थूसिंह के खिलाफ केस दर्ज दोनों युवकों की कार जब्त की है। इंदौर रोड पर सेठी नगर निवासी मुस्तफा पिता आबिद सैफी के खिलाफ केस दर्ज किया।


सख्ती : बार-बार कार और बाइक से घूमने वालों के चालान बनाए

श्रीनगर कॉलोनी निवासी विकास मित्तल आटा फैक्ट्री संचालक है। वह लॉकडाउन के दौरान बार-बार निकल रहा था। पूछताछ के दौरान खास कारण नहीं होने पर पुलिस ने 2 हजार रुपए का चालान बनाकर कार जब्त कर ली। पदम नगर निवासी अमित उर्फ लक्की पुलिस थाने के सामने से आना-जाना कर रहा था। युवक की बाइक जब्त कर 500 रुपए का चालान बनाया।


शहर और गांव में गुरुवार को भी जारी रही कार्रवाई

लॉकडाउन के दौरान बेवजह घूमने वालों के खिलाफ बुधवार रात से शुरू हुई कार्रवाई में गुरुवार शाम तक 15 से ज्यादा लोगों पर केस दर्ज किए गए। पिपलौद पुलिस ने भी इस मामले में केस दर्ज किए।




नया पेज पुराने