राँची की मस्जिद में छिपे मिले 11 विदेशी मौलवी, क्वारेंटाइन में भेजे गए

Also Read


झारखंड की राजधानी राँची के एक जिले में स्थित मस्जिद से 11 विदेशी मौलवियों को पुलिस प्रशासन ने हिरासत में लिया है। इससे पहले बिहार के पटना में 12 विदेशियों को एक मस्जिद से हिरासत में लिया गया था। राँची में तमाड़ जिले स्थित राड़गाँव मस्जिद में छिपे मौलवियों में से 3 मौलवी चीन से हैं, जबकि 4-4 किर्गिस्तान और कजाकिस्तान से हैं।


पड़ताल के दौरान प्राप्त पहचान पत्रों से इनकी शिनाख्त चीन के मा मेंनाई, ये देहाइ, मा मेरली, किर्गिस्तान के नूर करीम, नारलीन, नूरगाजिन, अब्दुल्ला और कजाकिस्तान के मिस्नलो, साकिर, इलियास आदि के रूप में हुई है। पटना मामले की तरह इन मौलवियों ने भी खुद को अब तक पूछताछ में मजहब प्रचारक बताया है। इनका कहना है कि इन्होंने 1 महीने से भारत के विभिन्न मस्जिदों में पनाह ली और 19 मार्च को राँची से बस द्वारा जमशेदपुर जाने के दौरान तमाड़ में रड़गाँव के पास स्थित एक मस्जिद में रुके। यानी ये सभी राँची के इस मस्जिद में पिछले 5 दिन से थे।


हालाँकि, पहले इनके बारे में किसी को कोई खबर नहीं थी। लेकिन कोरोना वायरस के कारण फैलती अफवाहों के बीच इनके मस्जिद में छिपे होने की खबर मालूम पड़ी। जानकारी पाते ही ग्रामीणों में कानाफूसी शुरू हुई। लोग एक-दूसरे से इनके बारे में बात करने लगे। आखिर में इनकी सूचना प्रशासन को मिली।




नया पेज पुराने