गिरफ़्तारी के बाद यूपी पुलिस से खौफ में है कफील खान, भड़काऊ भाषण के बाद गिरफ्तार

Also Read

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने डॉ. कफील खान को बुधवार को मुंबई से गिरफ्तार किया है। गोरखपुर के रहने वाले डॉ. कफील पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। 13 दिसंबर को अलीगढ़ में भड़काऊ भाषण देने के मामले में उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया था। पुलिस का कहना है कि एफआईआर दर्ज होने के बाद से वह फरार चल रहा था। 

पुलिस के मुताबिक, डॉ. कफील ने 12 दिसंबर को एएमयू में करीब 600 छात्रों को सीएए को लेकर भड़काऊ भाषण दिया था। कफील ने कहा था, ‘‘सीएए मुसलमानों को सेकंड क्लास का नागरिक बनाता है और एनआरसी लागू होते ही लोगों को प्रताड़ित किया जाना शुरू हो जाएगा।



यूपी पुलिस पर भरोसा नहीं: डॉ कफील

गिरफ्तारी के बाद डॉ. कफील ने कहा, ‘‘मुझे गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की मौत के मामले में क्लीन चिट मिल चुकी है। अब वे (सरकार) मुझे फिर से आरोपी बनाना चाहती है। मैं महाराष्ट्र सरकार से आग्रह करता हूं कि मुझे महाराष्ट्र में ही रहने दिया जाए। मुझे उत्तर प्रदेश पुलिस पर भरोसा नहीं है।’’

अगस्त 2017 में गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 60 बच्चों की मौत के बाद डॉ. कफील का नाम सुर्खियों में आया था। उन पर ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली कंपनी को उसका बकाया नहीं चुकाने का आरोप था। इस मामले में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया। कई महीने वह जेल में भी रहा था।

शर्जील के बाद डॉ. कफील की गिरफ्तारी

डॉ. कफील से पहले एएमयू में ही 'असम को भारत से अलग' करने का बयान देने वाले जेएयनू छात्र शर्जील इमाम को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। देशद्रोह के आरोपी शर्जील को दिल्ली पुलिस ने बिहार के जहानाबाद से 28 जनवरी को गिरफ्तार किया था। शर्जील ने 16 जनवरी को सीएए के विरोध में एएमयू में देश विरोधी भाषण दिया था।




0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने