हरिद्वार में डुबकी लगाने पाकिस्तान से आए 50 परिवार, कहा-भारत में है रहने की इच्छा

Also Read


CAA को लेकर पूरे देश में चर्चा का माहौल है। इस कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के प्रताड़ित हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के लोगों को नागरिकता दी जाएगी। नागरिकता उन लोगों को मिलेगी, जो 31 दिसंबर 2014 से पहले आए हैं। सीएए पर जारी चर्चा के बीच सोमवार को अटारी-वाघा सीमा के रास्ते  सोमवार को 50 हिंदू परिवार भारत पहुंचे।



इन लोगों के साथ बहुत सारा सामाना है, जिसे देखकर ये अनुमान लगाया जा रहा है कि ये लोग शायद ही अब वापस पाकिस्तान लौटें। पाकिस्तान से आए इस 50 परिवारों के समूह के पास 25 दिनों का वीजा है। इस दौरान ये लोग हरिद्वार जाएंगे। पाकिस्तान से आए लक्ष्मण ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "हरिद्वार में पवित्र डुबकी लगाने के बाद मैं अपने भविष्य के बारे में विचार करूंगा। हालांकि, मैं भारत में रहना चाहता हूं।"




नया पेज पुराने