ड्रोन कैमरे से छतों पर पत्थर रखने वाले 57 मकान चिन्हित, भेजा गया नोटिस

Also Read


यूपी के फ़िरोज़ाबाद (Firozabad) में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध में 20 दिसम्बर को जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल के मामले में अब प्रशासन ने ऐसे मकनों को चिन्हित किया है जिनकी छत पर पत्थर और ईंट रखीं थी. ऐसे मकानों की छतों की ड्रोन कैमरे (Drone Camera) से तस्वीर लेने के बाद उन्हें कानूनी कार्यवाई का नोटिस जारी किया गया है. साथ ही ऐसे मकान मालिकों को छत से पत्थर हटाने की भी चेतावनी दी गई है.

चार लोगों की हुई थी मौत

बता दें 20 दिसम्बर को शहर में भड़की हिंसा में चार लोगों की मौत हुई थी जबकि 50 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए थे. अब जिला प्रशासन बवाल में शामिल उपद्रवियों को चिन्हित कर उनकी गिरफ़्तारी की कवायद में जुटा है. इसी क्रम में मंगलवार को पुलिस ने पोस्टर जारी कर उपद्रवियों का नाम और पता बताने वालों को इनाम देने की भी घोषणा की है.

उपद्रवियों की शिनाख्त शुरू

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद जमकर बवाल हुआ था. एक दर्जन सरकारी और प्राइवेट वाहनों को प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया था. नालबंद इलाके की पुलिस चौकी में भी आग लगा दी थी. साथ ही पुलिस पर भी जमकर पथराव किया गया था. पुलिस ने जवाबी कार्यवाई करते हुए फायरिंग की थी, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई थी. इस घटना को लेकर शहर में लगातार तनाव बना हुआ था और विभिन्न मंचों से शांति की अपीलें की जा रहीं थी. हालात सामान्य होने पर इस मामले में 29 लोगों के खिलाफ नामजद और 2500 अज्ञात उपद्रवियों पर केस दर्ज हुआ है. केस दर्ज होने के बाद पुलिस ने दंगाईयों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. इनकी फोटो भी सोशल साइट्स पर जारी किए गए हैं. इनकी सूचना देने वालों को नगद इनाम की भी घोषणा की गयी है. साथ ही बताने वाले का नाम और पता गुप्त रखने का भरोसा दिलाया गया है.

वहीं हिंसा के बाद पांचवें दिन प्रशासन ने ड्रोन कैमरे से प्रभावित इलाकों की फोटोग्राफी कराई. कुल 57 मकान ऐसे पाये गए जिनकी छतों पर पत्थर रखे थे, जिन्हें नोटिस दिया गया है.





0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने