सेना के जवानों के साथ PM मोदी ने मनाई दीवाली, जवानों में दिखा जोश

Also Read

आज देश में दिवाली की धूम है।  वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली के अवसर पर जम्मू-कश्मीर में राजौरी जिले में तैनात जवानों के बीच पहुंचकर दिवाली मनाई।  इस दौरान प्रधानमंत्री ने जवानों के शौर्य और पराक्रम की सराहना करने के साथ ही दिवाली के पर्व पर शुभकामनाएं दी।
PM Modi celebrate diwali with Indian Army



प्रधानमंत्री मोदी ने जवानों के काफी समय को भी भुनाया।  यह पहला अवसर नहीं है जब प्रधानमंत्री मोदी ने देश के जवानों के साथ दिवाली व अन्य कोई त्योहार मनाया हो।
PM Modi celebrate diwali with Indian Army

मोदी ने ट्वीट किया, "हमारे सैनिकों के साहसकी कहानियां व्यापक रूप से साझा की जाती हैं, लेकिन क्या आप प्राकृतिक आपदाओं के दौरान हमारे सशस्त्र संघर्ष के बारे में भी जानते हैं?  उनके द्वारा की गई त्वरित कार्रवाई कई लोगों की जान बचाती है और बड़ी संपत्ति को नष्ट होने से बचाती है। 
PM Modi celebrate diwali with Indian Army


मैंने सैनिकों के साथ बातचीत की और भारत की जनता की तरफ से अविस्मरणीय सेवा के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।  उनकी सतर्कता और वीरता हमारे राष्ट्र को सुरक्षित रखती है।  हमारी सरकार सैनिकों के कल्याण के लिए बड़े कदम उठा रही है।]

2014 में जवानों के बीच सियाचिन में दिवाली मनाई थी

2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने तीसरी बार कश्मीर में जवानों के साथ दिवाली मनाई।  2014 में उन्होंने सियाचिन में जवानों के बीच दिवाली मनाई थी।  


2015 में वे दिवाली मनाने वाले पंजाब बॉर्डर गए थे।  उनका यह दौरा भारत-पाकिस्तान के बीच 1965 में लड़े गए युद्ध के 50 वें साल के मौके पर था।  
PM Modi celebrate diwali with Indian Army

2016 में प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश से लगे चीन बॉर्डर के पास इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) के जवानों के साथ दिवाली मनाई।  

प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी ने अपनी चौथी दिवाली का जश्न 2017 में जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर में सैनिकों के साथ मनाया।

पिछले साल चीनी सीमा पर जवानों से मिले थे मोदी

पिछले साल प्रधानमंत्री दिवाली के मौके पर उत्तराखंड में केदारनाथ मंदिर के दर्शन के लिए गए थे।  यहां उन्होंने चीन के आदेश पर बॉर्डर के पास हरसिल गांव के केंट इलाके में भारतीय सशस्त्र बल और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात की थी।  यहां उन्होंने जवानों से कहा था, "बर्फीले इलाके में आपकी ड्यूटी के लिएप्रिंटन देश को मजबूती प्रदान करता है। 

आपके नेतृत्व में ही देश का भविष्य और सौ सौ करोड़ लोगों के सपने सुरक्षित हैं।  भारत आज रक्षा के क्षेत्र में दुनिया के अव्वल देशों में शुमार होता है।  भारतीय फौज की साहसुरी की पूरी दुनिया में मिसाल दी जाती है।




0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने