कट्टर हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या ,

उत्तर प्रेदश की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को दिनदहाड़े हत्या से हड़कंप मच गया. हमलावर भगवा कपड़े पहने मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में आए और आधा घंटे से ज्यादा उनसे बातचीत की. इसके बाद मिठाई के डब्बे से चाकू निकाला और गर्दन रेतकर हत्या कर दी.

Kamlesh Tiwari


आने से पहले हमलावरों ने की थी फोन पर बात

कमलेश तिवारी के नौकर स्वराष्ट्रजीत सिंह ने मीडिया से बातचीत में पूरे मामले का खुलासा किया. तिवारी के नौकर ने बताया कि हमलावरों ने आने से पहले 10 मिनट तक तिवारी जी से फोन पर बात की. उसके बाद जब हमलावर दफ्तर में आए तो उस वक्त सिक्योरिटी गार्ड सोया हुआ था. जिसकी वजह से दोनों शख्स सीधे कमलेश तिवारी से मिलने पहुंचे. कमलेश तिवारी से उन्होंने करीब आधे घंटे बात की.


हमलावरों ने तिवारी के नौकर को सिगरेट लेने भेजा

बातचीत के दौरान कमलेश तिवारी ने दोनों लोगों को दही बड़ा खिलाया और चाय भी पिलाई. कमलेश तिवारी के नौकर ने जब चाय सर्व की तो इस बीच दोनों लोगों ने तिवारी के नौकर से सिगरेट और मसाला लाने के लिए कहा. इतने नौकर मसाला लेकर वापस लौटा तब तक हमलावर वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए थे. नौकर ने वारदात की कहानी बयां करते हुए बताया कि दोनों हमलावर बाइक से आए थे. उसने दावा करते हुए कहा कि वह बाइक को तो नहीं लेकर हमलावरों को अच्छे से पहचान सकता है.

मिठाई के डिब्बे में लाए थे चाकू, CCTV में कैद हुए कमलेश तिवारी के हत्यारे

कमलेश तिवारी के नौकर स्वराष्ट्रजीत सिंह ने बताया कि मुस्लिम लड़की और हिंदू लड़के की शादी को लेकर दोनों लोगों ने कुछ बातचीत की थी. जिसमें एक शख्स ने भगवा कपड़े पहने हुए थे. नौकर ने जब चाय दी तो उसे बाहर से सिगरेट लेने भेज दिया और इसी दौरान वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए.


मिठाई के डिब्बे में चाकू लाए थे हमलावर

भगवा कपड़े पहने हमलावर मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर आए खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में घुसे थे. हमलावरों ने मिठाई का डब्बा खोला और गर्दन रेतकर उनकी हत्या कर दी. हमलावरों की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई. सीसीटीवी कैमरे में कैद वारदात के मुताबिक हमलावरों ने कमलेश तिवारी की ठोड़ी और सीने में चाकू से 15 से ज्यादा वार किए.

सूरत से लिया गया था मिठाई का डिब्बा

जांच में पता चला कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में इस्तेमाल मिठाई का डिब्बा 16 अक्टूबर को सूरत की मिठाई के दुकान से खरीदा गया थ. पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है.

कौन थे कमलेश तिवारी?

हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी ने वर्ष 2017 जनवरी में ही हिंदू समाज पार्टी की स्थापना की थी. तिवारी इससे पहले हिंदू महासभा के अध्यक्ष रह चुके थे. कमलेश तिवारी पैगंबर मुहम्मद से जुड़ी विवादास्पद टिप्पणी की थी, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था और उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाया गया था. हाल ही में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ पीठ ने उनके खिलाफ एनएसए रद्द कर दिया था.






0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने