ऐसे राजनेता जो पढ़ाई-लिखाई में फिसड्डी, लेकिन सियासत ने चमका दी किस्मत !

Also Read

हम आपको एक ऐसे विषय के बारे में बताने जा रहे है जो काफी रोचक है और काफी मजेदार भी है आपको यकीं नही होगा, हम भारत में ऐसे कुछ राजनेताओ के बारे में बताने जा रहे है जो अशिक्षित है, 

यह बहुत ही शर्म की बात है की हमारे देश में अशिक्षित नेताओ की सूची एक छोटे से कंपनी के नामो से कही ज्यादा है.



सियासत एक ऐसी चीज है जो अमीर आदमी को गरीब बना देती है और गरीब आदमी को अमीर बना देती है, लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है जब एक पढ़ा लिखा नौजवान आइएएस ऑफिसर को अनपढ़ नेता को सलामी देनी पड़ती है, ये हमारे देश की गन्दी राजनीती के चलते होता है, नेता बनने के लिए कोई योग्यता की जरुरत नही पड़ती, और न ही नेता को किसी डिग्री की जरुरत पड़ती है.

हम ऐसे ही कुछ नेताओ के बारे में बता रहे है जिनकी न ही कोई डिग्री है लेकिन सियासत ने इनकी किस्मत को चार चाँद लगा दिए.....

  1. राबड़ी देवी 

राबड़ी देवी बिहार की मुख्यमंत्री रह चुकी है और लालू यादव की पत्नी है, जब लालू यादव को चारा घोटाले में दोषी पाया गया और जेल हुई तब राबड़ी देवी को उनके पार्टी के नेताओ ने मुख्यमंत्री बनाया और राबड़ी देवी बिहार जैसे राज्य की मुख्यमंत्री बनी.



मुख्यमंत्री बनने के पहले राबड़ी देवी राजनीती का एक अक्षर भी नही जानती थी लेकिन सियासत ने उनको उस समय के बिहार जैसे अशांत राज्य का मुख्यमंत्री बना दिया.

राबड़ी देवी मात्र चौथी पास है कम उम्र में विवाह होने कारण ज्यादा पढाई नही कर सकी.

      2. जयललिता 

जयललिता तमिलनाडु की AIADMK की प्रमुख नेत्री थी, राजनीती में आने के पहले वो एक अभिनेत्री थी, उनके पिता मात्र 2 साल की उम्र में चल बसे थे, उन्होंने अपनी माँ के साथ फ़िल्मी दुनिया में कदम रखा था, दसवी पास करने के बाद पढाई छोड़ दी, 15 साल की उम्र में अपनी पहली फिल्म में काम की थी.



      3. करूणानिधि 

आप मानो या न मानो तमिलनाडु के सुपर रिच नेता कभी कॉलेज ही नही गये, लेकिन वे तमिलनाडु के कई सुपरहिट तमिल फिल्मो के स्क्रिप्ट लिखने के लिए जिम्मेदार है.





नया पेज पुराने